बड़ी खबरभीलवाड़ा न्यूज

पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति एवं प्रभावी प्रबंधन करें सुनिश्चित: संभागीय आयुक्त

फील्ड अधिकारी एवं कर्मचारी मुख्यालय पर रहे उपस्थित, बिना पूर्व अनुमति के नहीं छोड़े मुख्यालय

  • भीलवाड़ा

मूलचंद पेसवानी
जिला संवाददाता

मूलचंद पेसवानी वरिष्ठ पत्रकार, जिला संवाददाता - शाहपुरा / भीलवाड़ा 

callwebsite

संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट ने वर्तमान में भीषण गर्मी की स्थिति को देखते हुए पानी और बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने एवं प्रभावी प्रबन्धन हेतु सभी फील्ड अधिकारी एवं कर्मचारियों को मुख्यालय पर ही उपस्थित रहने के निर्देश दिए।

साथ ही कहा कि वे बिना सक्षम अनुमति के मुख्यालय नहीं छोडेंगे। संभागीय आयुक्त भट्ट ने बुधवार को बिजली, पानी, चिकित्सा एवं ई फाइलिंग को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक लेकर समीक्षा की और निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलक्टर नमित मेहता ने भी अधिकारियों को आदेशों की अनुपालना के लिए निर्देशित किया।

संभागीय आयुक्त भट्ट ने बैठक में निर्देश दिए कि पीक लोड की स्थिति में पीएचईडी और बिजली विभाग के अधिकारी समन्वय कर डेडिकेटेड फीडर एवं पम्प हाउस की विद्युत आपूर्ति लाईनों में विद्युत आपूर्ति निर्बाध रखेंगे, जिससे विद्युत ट्रिपिंग, फाल्ट आदि के कारण पेयजल आपूर्ति प्रभावित नहीं हो सके। जिन क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के दौरान डायरेक्ट बूस्टर लगाने के कारण अंतिम छोर के उपभोक्ताओं को पेयजल उपलब्धता में समस्या आ रही है, ऐसे व्यक्तियों पर नियमानुसार कारवाई की जाए।

बिना सक्षम अनुमति मुख्यालय न छोड़ें

बिजली आपूर्ति की समीक्षा करते हुए संभागीय आयुक्त ने निर्देश दिए कि फील्ड में कार्यरत अभियंता ग्रिड सब स्टेशनों का नियमित दौरा करें। इस दौरे में वे क्षेत्रवार बिजली की उपलब्धता एवं आपूर्ति की स्थिति, छीजत, मेंटिनेंस तथा उपकरणों की गहन जांच करें।

आपूर्ति संबंधी समस्याओं का हो त्वरित समाधान

उन्होंने कहा कि आमजन को निर्बाध बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि बिजली अभियंता मुख्यालय पर रहें और सक्षम स्तर से अनुमति के बिना मुख्यालय नहीं छोड़ें। कॉल सेंटर एवं जीएसएस पर आमजन की बिजली आपूर्ति संबंधी समस्या का त्वरित समाधान किया जाए। उन्होंने कहा कि रिपेयर एवं मेंटीनेंस के दौरान सुरक्षा को प्राथमिकता दें। सेफ्टी इक्विपमेंट्स का उपयोग करते हुए ही सुधार के कार्य किए जाएं। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न हो।

संभागीय आयुक्त भट्ट ने सीएमएचओ को निर्देश दिए कि सभी चिकित्सा संस्थानों में लू-तापघात के मरीजों के लिए बैड आरक्षित हो साथ ही आवश्यक दवा एवं जांच सुविधाओं एवं पर्याप्त मात्रा में आईस पैक, आईस क्यूब आदि की उपलब्धता रखी जाए। साथ ही, यह सुनिश्चित करना होगा कि एम्बुलेंस में आपात स्थिति में उपचार हेतु आवश्यक दवा एवं उपकरण उपलब्ध हों। उन्होंने लू-तापघात से संबंधित व्यापक आईईसी गतिविधियां कर आमजन को गर्मी एवं लू से बचाव हेतु जागरूक करने के निर्देश दिए। साथ ही मेडिकल किट्स की उपलब्धता, चिकित्सालयों में पानी एवं बिजली की सुचारू आपूर्ति रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने वाटर बॉडीज वाले क्षेत्रों में एंटी लार्वल एक्टिविटी करने साथ ही डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियों की रोकथाम के लिए जागरूकता के संबंध में निर्देशित किया।

इस अवसर कर एडीएम प्रशासन रतन कुमार, एडीएम सिटी वंदना खोरवाल, यूआईटी सचिव ललित गोयल, सीईओ जिला परिषद शिवपाल जाट, सीएमएचओ डॉ सी पी गोस्वामी, अधीक्षण अभियंता पीएचईडी राजपाल सिंह सहित बिजली और पेयजल से जुड़े अधिकारी मौजूद रहे।

मूलचन्द पेसवानी शाहपुरा

जिला संवाददाता, शाहपुरा/भीलवाड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}