भीलवाड़ा न्यूजप्रदेश राजनीतीबड़ी खबर

सांसद अग्रवाल ने किया नेत्र परीक्षण कैंप पेंपलेट का विमोचन

दिवंगत आत्माओं की स्मृति में नेत्र शिविर लगाना पुण्य का काम - अग्रवाल

  • भीलवाड़ा

मूलचंद पेसवानी
जिला संवाददाता

मूलचंद पेसवानी वरिष्ठ पत्रकार, जिला संवाददाता - शाहपुरा / भीलवाड़ा 

callwebsite

कोली समाज विकास ट्रस्ट भीलवाड़ा द्वारा आज एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें नेत्र परीक्षण कैंप के पेंपलेट का विमोचन सांसद दामोदर अग्रवाल ने किया। इस अवसर पर कोली समाज द्वारा सांसद बनने पर दामोदर अग्रवाल का मारवाड़ी पगड़ी, गुलस्ता भेंट करके मुँह मिठाकर सम्मान किया गया।


नेत्र परीक्षण कार्यक्रम में सचिव मुरलीधर लोरवाडिया ने जानकारी दी कि ब्रह्मालीन संत नाथू स्वामी देवलोकवासी फूली देवी बछापरिया की स्मृति में 8वीं पुण्य तिथि पर गोमाबाई नेत्र चिकित्सालय, नीमच और कोली समाज विकास ट्रस्ट भीलवाड़ा के तत्वावधान में नेत्र परीक्षण और मोतियाबिंद चिकित्सा शिविर का आयोजन किया जा रहा है। यह निशुल्क नेत्र परीक्षण शिविर 23 जून 2024 को बदलेश्वर मंदिर हॉल, कोटा रोड में आयोजित होगा। पेंपलेट का विमोचन सांसद दामोदर अग्रवाल और पूर्व सभापति ललिता समदानी के करकमलों द्वारा किया गया।

  • इस अवसर पर सांसद दामोदर अग्रवाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा, “दिवंगत आत्माओं की स्मृति में नेत्र शिविर लगाना पुण्य का काम है। यह समाज के लिए एक महान सेवा है और मैं इसके लिए कोली समाज विकास ट्रस्ट की प्रशंसा करता हूं।”

कार्यक्रम में उपस्थित समाज के वरिष्ठ सदस्य और आयोजन समिति के अन्य प्रमुख सदस्य भी शामिल हुए। समाज अध्यक्ष ओम प्रकाश सुनारिया, जिला अध्यक्ष बालूलाल बच्छापरिया, कोषाध्यक्ष महेंद्र गेंदावध, मोतीलाल आमेरियाँ, सेवंती लाल, मोहन लाल रुवासिया और राकेश कसोडिया ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

नेत्र परीक्षण शिविर का उद्देश्य

नेत्र परीक्षण शिविर का मुख्य उद्देश्य समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों को नेत्र स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और निशुल्क नेत्र जांच की सुविधा प्रदान करना है। शिविर में विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम द्वारा सभी रोगियों की आंखों की जांच की जाएगी और ऑपरेशन योग्य रोगियों को चिन्हित किया जाएगा। यह शिविर विशेष रूप से मोतियाबिंद के मरीजों के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि समय पर जांच और उपचार न मिलने से उनकी दृष्टि पूरी तरह से खत्म हो सकती है।

आयोजन की योजना और व्यवस्थाएँ

सचिव मुरलीधर लोरवाडिया ने बताया कि इस शिविर को सफल बनाने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं। शिविर स्थल पर नेत्र जांच के लिए आधुनिक उपकरण और सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। साथ ही, मरीजों के लिए प्राथमिक उपचार, दवाइयाँ और परामर्श की भी व्यवस्था की जाएगी।

समाज का योगदान

कोली समाज विकास ट्रस्ट भीलवाड़ा ने इस आयोजन के लिए गहन तैयारी की है। समाज के सदस्यों ने मिलकर इस शिविर के लिए धनराशि एकत्रित की है और विभिन्न संसाधनों को जुटाया है। समाज के वरिष्ठ सदस्य ओम प्रकाश सुनारिया ने कहा, “हमारे समाज का यह प्रयास है कि हम अधिक से अधिक लोगों को इस शिविर का लाभ पहुंचा सकें और उनकी दृष्टि को सुरक्षित रख सकें।”

शिविर की अनूठी पहल

इस शिविर की एक अनूठी पहल यह है कि यहाँ पर न केवल नेत्र जांच की जाएगी, बल्कि ऑपरेशन योग्य मरीजों को निशुल्क ऑपरेशन की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। गोमाबाई नेत्र चिकित्सालय, नीमच के विशेषज्ञ डॉक्टर इस कार्य में सहयोग करेंगे। यह पहल उन गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए एक बड़ी राहत साबित होगी जो महंगे इलाज का खर्च वहन नहीं कर सकते।

आगे की योजना

भविष्य में भी कोली समाज विकास ट्रस्ट इस प्रकार के स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन करता रहेगा। ट्रस्ट के सदस्यों ने बताया कि आने वाले समय में और भी विभिन्न चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जाएगा जिससे समाज के हर वर्ग को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिल सके।

संपर्क जानकारी

शिविर के बारे में अधिक जानकारी के लिए समाज के सचिव मुरलीधर लोरवाडिया से संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने सभी समाज के सदस्यों और अन्य नागरिकों से अपील की है कि वे इस शिविर का लाभ उठाएं और अधिक से अधिक लोगों तक इस संदेश को पहुँचाएं।

इस प्रकार के आयोजन न केवल समाज में स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति जागरूकता बढ़ाते हैं, बल्कि समाज की एकजुटता और सेवा भाव को भी प्रदर्शित करते हैं। कोली समाज विकास ट्रस्ट भीलवाड़ा का यह प्रयास सराहनीय है और अन्य समाजों के लिए भी प्रेरणादायक है। इस शिविर के सफल आयोजन की कामना करते हुए सांसद दामोदर अग्रवाल और अन्य अतिथियों ने शुभकामनाएं दीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}