Crime News

वसीम खां पर फायर के लिए बंदूक उपलब्ध कराने वाला आरोपी गिरफ्तार

चित्तौड़गढ़। कस्बा निम्बाहेड़ा के ईशाकाबाद में एक युवक पर बंदूक से फायर कर जानलेवा हमला करने के मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों को बंदूक उपलब्ध कराने वाले आरोपी को कोतवाली निम्बाहेड़ा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले में पूर्व में पुलिस ने हमला करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार कर टोपीदार बंदूक व मोटर साईकिल को जब्त किया था।

एसपी राजन दुष्यन्त के अनुसार 23 दिसम्बर को ईशाकाबाद निम्बाहेडा निवासी वसीम खां पुत्र चान्द खां पर एक मोटर साईकिल पर सवार होकर आए तीन व्यक्तियों नई आबादी साकरिया निवासी मुजमिल पुत्र मोहम्मद उमर उर्फ मुंशी खां, बड़ा कसाई मौहल्ला निम्बाहेडा निवासी अफजल उर्फ भैया पुत्र अकरम खां और रज्जा कॉलोनी निम्बाहेड़ा निवासी आसू पुत्र अकरम खां ने वसीम के घर के पास ईशाकाबाद आते ही उनमे से एक मुजमिल उर्फ भैया ने टोपीदार बन्दूक से जान से मारने की नियत से फायर कर भाग गये।

आरोपी
आरोपी

इस जानलेवा हमले में वसीम की पीठ व कन्धे, भूजा पर छर्रे लगेथे। कोतवाली निम्बाहेडा पुलिस थाने में हत्या का प्रयास व आर्म्स एक्ट में प्रकरण दर्ज कर अनुसधांन एएसआई नवलराम के जिम्मे किया गया था।
घटना का शीघ्र खुलासा करते हुए एएसपी बुगलाल मीना व डीएसपी निम्बाहेड़ा बेनी प्रसाद के निर्देशन में थानाधिकारी कोतवाली निम्बाहेडा राम सुमेर मीणा पु.नि. द्वारा एएसआई नवलराम, कानि. रतनसिंह, ज्ञानप्रकाश व रामचन्द्र द्वारा उक्त घटना मे शामिल दो आरोपियों 22 वर्षीय मुजम्मिल उर्फ भैया पुत्र मोहम्मद उमर उर्फ मुंशी खां व 28 वर्षीय अफजल खान उर्फ भैया पुत्र अकरम खां को गिरफ्तार किया था।

 

दोनो आरोपियों ने पुलिस रिमांड के दौरान मामले मे गहनता से पुछताछ पर अवैध बन्दूक उदयपुर रोड़, सुथारी मौहल्ला, निम्बाहेडा हाल कैंची चौराया निम्बाहेडा निवासी 30 वर्षीय आसु उर्फ अशरफ पुत्र असलम खान द्वारा उपलब्ध कराना बताया।
वसीम खां पर हुई फायरिंग की घटना में प्रयुक्त अवैध हथियार एक नाल टोपीदार बन्दूक आरोपियों को उपलब्ध कराने वाले साथी आरोपी उदयपुर रोड़, सुथारी मौहल्ला, निम्बाहेडा हाल कैंची चौराया निम्बाहेडा निवासी 30 वर्षीय आसु उर्फ अशरफ पुत्र असलम खान को कोतवाली निम्बाहेड़ा पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया। आरोपी आसु उर्फ अशरफ खान से मामले मे गहनता से पुछताछ कर पता लगाया जायेगा कि अवैध बन्दूक टोपीदार कहां से खरीद फरोख्त की है।

यह भी पढ़े  कारसेवक: तब दिल में जुनून था…आज रामलला मंदिर प्राण प्रतिष्ठा ने लाई आंखों में चमक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}