News

एक दिवसीय जिला स्तरीय अहिंसा एवं कौमी एकता सम्मेलन का शुभारंभ

जिला मुख्यालय पर टाऊन हॉल में शुक्रवार को जिला स्तरीय अहिंसा एवं कौमी एकता सम्मेलन का आयोजन किया गया।

मूलचन्द पेसवानी

जिला संवाददाता, भीलवाड़ा

कार्यक्रम की शुरुआत जिला कलक्टर नमित मेहता, सभापति राकेश पाठक, जनप्रतिनिधि प्रशांत मेवाड़ा, उप जिला प्रमुख शंकर गुर्जर, सांसद प्रतिनिधि राजकुमार आंचलिया, सीईओ जिला परिषद मोहनलाल खटनावलिया, आयुक्त हेमाराम चौधरी, शंकरलाल माली, बहन तरुणा, भाई अमोलक, बाबूलाल आचार्य द्वारा द्वीप प्रज्जवल्लित कर की गई।

डीएम नमित मेहता संबोधित करते हुए

कार्यक्रम की शुरुआत में जिला कलक्टर नमित मेहता ने सम्मेलन में भाग लेने आए अभ्यर्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के समय में सहिष्णुता की सबसे ज्यादा आवश्यकता हैं। जीवन शैली में तनाव की अधिकता हो गई हैं, कोशिश करें कि ऐसी चीजों से जुड़े जिससे मन शांत रहे और जीवन में तनाव पर लगाम लगाई जा सके। उन्होंने कहा कि व्यवहार में संयम रखें साथ ही क्षमा करना सीखे, क्षमा करने से मन का बोझ हल्का होता हैं। धैर्य रखें, गांधीजी के विचारों को जीवन में उतारे। हिंसा से न सिर्फ जिसके साथ हिंसा होती है उसका नुकसान होता है। बल्कि जो हिंसा करता है, उसका सबसे ज्यादा नुकसान होता हैं। प्रशिक्षण से मिले अच्छे विचारों को आप अपने जीवन में धारण करें और दूसरों से भी साझा करें।


यह भी पढ़े   DM मेहता की संवेदनशीलता, दिव्यांग शुभम को दिलाई व्हीलचेयर,अब हंसी खुशी व्हीलचेयर से स्कूल जा सकेगा शुभम


मुख्य वक्ता शंकरलाल माली ने समाज और राष्ट्र के लिए संवेदनशील होने की बात कही। उन्होंने कहा कि दुनिया को वसुधैव कुटुंबकम की संकल्पना भारत ने ही दी। प्रत्येक मनुष्य के साथ प्रत्येक जीव के प्रति दया भावना रखें। मन वचन कर्म से किसी भी प्रकार की हिंसा न करें।

मूलचन्द पेसवानी शाहपुरा

जिला संवाददाता, शाहपुरा/भीलवाड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}